आज और कल

कल फिर आती हूँ , यह कह वो चली गईन कल आया और न वो आई कल फिर आने का कहकर जो चली गईवो आने…

इतना गुस्सा ठीक नहीं

“इतना गुस्सा ठीक नहीं है”, अक्सर पापा कहा करते थे। झल्लाया मन सोचता था, “लड़की हूँ इसलिए मुझे ही ज्ञान मिलता है, गुस्से की बात…

वो गुरु ही तो है जिसने धरा रूप निराला

नर तन धर हम आ गए,पर चारो ओर झमेला है।हे ! ईश्वर मन मेरा भरमाए,यह कहाँ मुझे धकेला है।। डरना नहीं है तुझको,मिलेंगे अनेक रक्षक…

अभिमान

इंसान भी गजब एंटरटेनमेंट हैहर एक ने अपनी गढ़ी हुई एक सल्तनत हैहर किसी को मैं की भयंकर बिमारी हैकुछ को तो मालूम नहीं की…

ढलते जीवन की लाचारी

धीमी गति, कांपता बदनबुझी आँखें, गुमशुदा स्वपन। ऐसे में कोई तो आएपलभर साथ का एहसास दे जाए । हम भी भागा करते थे कभीन जाने…

कश्मकश

मुश्किल मे जब दिल घबराया, दिमाग उस पर गुर्राया ।हार का आईना दिखा, दिल को दहलाया ।। अब दिखा हिम्मत, जिसके कसीदे तू नाप आया…