Categories
Poems

अभिमान

इंसान भी गजब एंटरटेनमेंट हैहर एक ने अपनी गढ़ी हुई एक सल्तनत हैहर किसी को मैं की भयंकर बिमारी हैकुछ को तो मालूम नहीं की अहम् ने उनकी क्या दशा कर डाली है कोई सुंदरता पर इतराया है,तो किसी को अपने ज्ञान का मोल भाया हैकुछ सबको खरीदने का दम भरते,कुछ ने न जाने क्या […]

Categories
Poems

मैं और पापा

आज फिर पापा से बहस हो गई, वजह कुछ खास नहीं थीएक ओर जीवन का मझा हुआ खिलाड़ी थादूसरी ओर मेरे अंदर का नया जोश थाजीवन के खेल का मैदान, उसको निभाने की ही बहस थी ऐसा ही रिश्ता होता है पिता का ,जीवन भर वह आपको नापता हैदुनिया में आपकी चमक देख ,दिल में […]

Categories
Poems

माँ का ख्याल

सोचा माँ से उनका हाल पूछ लूँकैसी है वो यह जान लूँ बातों का सिलसिला जो शुरू हुआबच्चों से लेकर रसोई तक का क़िस्सा बयान हुआ उलझनों को सुलझाने की कोशिश हुईग़ुस्से पर क़ाबू रखने की सलाह दी गई सभी का साथ निभाने के कुछ सूत्र मिलेअपना भी ख्याल रखना है यह अनुदेश मिले दरवाजे […]

Categories
Poems

ग़ुस्सा आ ही जाता है

बिन बुलाए बिन चाहे ग़ुस्सा आ ही जाता है जब कोई ना कहे मनचाही बातें,जब ना मिले मनचाहा स्वाद,ग़ुस्सा आ ही जाता है सड़क पर हो जाए जो कुछ देरी,इंटरनेट स्पीड में जो घूम जाए फेरी,ग़ुस्सा आ ही जाता है बादशाहत की चाह को कोई कदरदान न मिलेजब ज्ञान के अहम को कोई कुछ सीख […]

Categories
Poems

आज फिर परचम हवा में लहराएगा

आज फिर परचम हवा में लहराएगा, एक राष्ट्र अपने गणतंत्र का उत्सव मनाएगा । इतिहास के पन्नो को पलटा जाएगा , अनेको कर्मवीरो की गाथा को गाया जाएगा । बीते कल का नहीं कोई सानी है , पर क्या हमको जोड़नी नहीं अपनी कोई कहानी है । वर्तमान पूछ रहा कुछ अहम् सवाल है क्या […]

Categories
Poems

Thank You Teacher

Your face is my soothing balmIn times of distress it makes me calm Your hands are my guiding batonThey hold me when my confidence is shaken You have been my dictionary of life lessonsWith you around my worry lessens Your ways have taught me muchWords are not always needed as such Your recognition encourages and […]

Categories
Poems

आज़ादी

आज फिर तिरंगा हवा में लहराएगादेख उसे हर दिल आज़ादी का अहसास पायेगा गुलामी की बेड़ियों से हमें आज़ाद करवा गएअनगिनत चेहरे देश के भविष्य पर मिट गए पर इस आज़ाद हवा को अभी भी कुछ जकड़ रहा हैकृत्रिम बेड़ियों का जाल हमें फांस रहा है विविधता है हमारी पहचानफिर अंतर क्यों हमको बाँट रहा […]

Categories
Poems

दोस्ती

तोतली  भाषा  में  आँगन  की  चिड़ियों  से  बतलानावह  था  जीवन  का  पहला  दोस्ताना गुड्डे  गुड़ियों  से  दिल  की  सब  बातें  करनाजीव  निर्जीव  के  अंतर  से  पार  था  वह  दोस्ताना खेल  खेल  में  एक  दुसरे  को  चिढ़ाना ,फिर  गले  लगाकर  उसको  मनानामासूमियत  से  भरा  हुआ  था  स्कूल  का  दोस्ताना घर  से  दूर माँ  का  प्यार , […]

Categories
Poems

Let them be ….

Give him choice to soften and cryGive her chance to falter and try Give him choice to take restGive her option to drive and test Don’t fix them in mouldsAllow them to unwrap as many folds Don’t mix them to create equalsLook at them as individuals Both are masters of their gameAllow them to explore […]

Categories
Poems

ढलते जीवन की लाचारी

पूरा जीवन भाग दौड़ में निकालने क बाद वृद्धावस्था का थमाव वैसे ही अजीब लगता है जैसे गर्मी में बिजली चले जाने से कूलर बंद होने से हुआ सन्नाटा।  एक और जीवन भर हम सुकून के दो पल ढूंढते रहते है पर अंत तक आदत ऐसी हो जाती है की खालीपन खटकता है। एकल परिवार […]