सच अनकहा – The Untold Truth

हर किसी को डर सता रहा,पकड़े जाने का ।कुछ राज़ जो छिपा रखे,उनके खुल जाने का ॥ज़माने के सामने सब सीधे हैं ,सुलझे हैं ।पर…

शहर में कुछ धुआं सा है

लोग नाराज़ है,कुछ कोसते भी हैक्यों शहर में धुआं सा है ।जैसे खुद को इस शहर ने ही जलाया हो,पूछते सब है कैसा यह शहर…

आज और कल

कल फिर आती हूँ , यह कह वो चली गईन कल आया और न वो आई कल फिर आने का कहकर जो चली गईवो आने…

वो गुरु ही तो है जिसने धरा रूप निराला

नर तन धर हम आ गए,पर चारो ओर झमेला है।हे ! ईश्वर मन मेरा भरमाए,यह कहाँ मुझे धकेला है।। डरना नहीं है तुझको,मिलेंगे अनेक रक्षक…

तितली वाला फूल

आज रास्ते में तितली वाला फूल दिख गया,आखों के सामने कुछ चित्र चलने लगे,हँसता खिलखिलाता एक चेहरा,फूल की पत्तियों की सीटी बजाता हुआ । दूसरे…

बड़ा हुआ तो गुलाम हुआ

काठ का वो पालना लगता तब छोटा थासफलता की यह कुर्सी लगती ऊँची हैपर उस पालने में रोने हसने की छूट थीइस कुर्सी पर जकड़े…

अभिमान

इंसान भी गजब एंटरटेनमेंट हैहर एक ने अपनी गढ़ी हुई एक सल्तनत हैहर किसी को मैं की भयंकर बिमारी हैकुछ को तो मालूम नहीं की…

मैं और पापा

आज फिर पापा से बहस हो गई, वजह कुछ खास नहीं थीएक ओर जीवन का मझा हुआ खिलाड़ी थादूसरी ओर मेरे अंदर का नया जोश…

माँ का ख्याल

सोचा माँ से उनका हाल पूछ लूँकैसी है वो यह जान लूँ बातों का सिलसिला जो शुरू हुआबच्चों से लेकर रसोई तक का क़िस्सा बयान…

ग़ुस्सा आ ही जाता है

बिन बुलाए बिन चाहे ग़ुस्सा आ ही जाता है जब कोई ना कहे मनचाही बातें,जब ना मिले मनचाहा स्वाद,ग़ुस्सा आ ही जाता है सड़क पर…